-

सविता भाभी का WhatsApp यहाँ से डाउनलोड करो और बाते करे पूरी नाईट सेक्सी भाभी से [Download Number ]


loading...

बीवी को बड़े काले लंड से चुदवाया – उसके मुँह से फिन निकल आया

हैल्लो दोस्तों, कैसे है आप सब? आपकी लंड गुदगुदाने वाली स्टोरी पढ़कर बहुत मज़ा आता है, तो मैंने सोचा कि में भी अपनी आप बीती लिखूं। सबके जीवन में सेक्स इन्जॉय करने का वक़्त आता है और जवानी में हमारा भी वक़्त आया था, मेरी शादी हुई, बीवी आई, नॉर्मल सेक्स लाईफ इन्जॉय की, बच्चे भी हुए और अब बड़े होकर शादी करके बाहर चले गये है। अब हम मियां बीवी रह गये है, मेरी उम्र 52 साल और मेरी बीवी की उम्र 47 साल है, मेरा पेट आगे निकला हुआ है, मेरी हाईट 5 फुट 5 इंच, रंग सांवला, कमर 44, भारी गांड, लंड खड़ा होने पर 5 इंच का है। मेरी बीवी गोरी, भरा हुआ बदन, हाईट 5 फुट, गदराये बूब्स 38D, कमर 36, भारी-भारी गांड शायद 40 की होगी, पहनने ओढ़ने की शौकीन, वो अच्छी मांसल सेक्सी लगती है। हम अकेले ही घर में रहते है, हमें ब्याज किराए की अच्छी इनकम हो जाती है। जब बच्चे थे तो हम उन्ही में बिज़ी रहते थे और रात में कभी मौका मिला, तो जल्दी-जल्दी चुदाई कर ली और जल्दी-जल्दी निपटना पड़ता था क्योंकि कोई जाग ना जाए। अब अकेले रहने से खुली छूट मिल गई है। हमारी 4-5 साल से जमकर चुदाई होती थी, ब्लू फिल्म की सी.डी टीवी पर लगाकर देखते, ग्रुप सेक्स की सी.डी जिसमें जोड़े पार्ट्नर बदलकर चोदते थे, एक दूसरे के लंड चूत चूसते और फिर ग्रूप चुदाई करते। अब उसमें सबके लंड बहुत बड़े-बड़े रहते थे, तो मेरी बीवी बड़े लंड को ललचाई नजर से देखती थी। मेरा लंड भी छोटा होने की वजह से में भी बड़े लंड को उत्सुकता से देखता था।

मेरी बीवी कहती है कि कितने बड़े-बड़े लंड है? इनके पार्ट्नर इतना बड़ा लंड अपनी चूत में कैसे ले लेती है? देखो इतना बड़ा लंड उछल-उछलकर ले रही है कहकर मुझसे चिपक जाती और मेरी चड्डी में अपना एक हाथ डालकर मेरे लंड से खेलने लगती। फिर में उसके बूब्स मसलने लगता और फिर हम अपने कपड़े उतार देते और में उसके बूब्स की निप्पल को अपने मुँह में लेकर चूसने लगता और वो मेरे छोटे से लंड को अपनी मुठी में लेकर आगे पीछे करती रहती थी। फिर में उसकी नाभि में अपनी जीभ घुमाता रहता था और फिर नीचे जाकर उसकी चूत के दाने को अपने मुँह में भरकर चूसता था। फिर वो मदहोश होकर सिसकारियाँ भरती और में अपनी जीभ से उसकी चूत को चोदता था। फिर कुछ देर के बाद हम 69 की पोजिशन में हो जाते और वो मेरा लंड अपने मुँह में भरकर मेरे लंड के सुपाड़े को चाटती और में मेरा लंड पूरा उसके मुँह में डालकर आगे पीछे करके उसके मुँह की चुदाई करता था और उसकी चूत को अपनी जीभ से चोदा करता था। थोड़ी देर के बाद वो सिसकियाँ लेकर अपनी चूत का पूरा पानी छोड़ देती थी।

फिर में उसे सीधा लेटाकर उसकी दोनों टाँगे अपने कंधे पर रखकर उसकी चूत में अपना लंड पूरा घुसाकर जमकर धक्के लगाता था और फिर 5-7 मिनट के बाद हम दोनों झड़कर शांत हो जाते थे। अब इन मेरा लंड ढीला रहने लगा है, कभी-कभी ही खड़ा होता है, लेकिन मेरी बीवी उतनी की उतनी गर्म है तो मैंने सोचा कि क्यों ना इसको बड़े लंड का मज़ा दिला दूँ? और में भी लंड को देखूं और फिर हम दोनों मिलकर बड़े लंड से खेले, वो भी चुदवाए और मुझे भी मज़ा आए। अब इन दिनों हमारे पड़ोस में एक फैमिली रहने आई थी, वो जवान कपल दोनों ही सर्विस करते थे और उनके साथ में उनके पापा थे, उनकी बीवी की 5 साल पहले मौत हो गई थी, उनकी उम्र करीब 56-57 साल थी, लंबे चौड़े, हाईट 5 फुट 8 इंच, गठीला बदन, वो एक 2BHK फ्लेट था। उनका लड़का बहू सर्विस करने चले जाते थे, तो वो बाबा अकेले रहते थे। अब उनकी हमसे दोस्ती हो गई थी, फिर वो दिन में हमारे घर आ जाते थे और चाय, नाश्ता, प्लेयिंग कार्ड चलते थे। अब धीरे-धीरे हंसी मज़ाक भी होने लगी थी और कभी-कभी गंदे जोक्स भी हो जाते थे।

फिर एक दिन मेरे मुँह से निकल गया कि में ढीला लंड बनारसीदास का हूँ। फिर वो बोले कि आपका होगा ढीला लंड, यहाँ तो हमेशा तना रहता है। फिर तभी मैंने पूछा कि आपका कितना बड़ा है? तो वो बोले कि पूरा एक हाथ का है, बीवी नहीं है इसलिए मन मारकर रहना पड़ता है और रातभर बेटे बहू के पलंग पर पच-पच का म्यूज़िक चलता रहता है, क्या करें? लंड पर हाथ रखकर रहना पड़ता है, कभी मुठ भी मार लेता हूँ। फिर मैंने कहा कि में व्यवस्था करूँ क्या? तो वो बोले कि कैसे? तो मैंने कहा कि मेरी बीवी जो है, मेरा लंड आजकल ढीला ही रहता है, हम दोनों मिलकर शेयर करेंगे। फिर वो बोले कि भाभी मान जाएगी क्या? तो मैंने कहा कि में बात करता हूँ, आप कल तैयार होकर आ जाना। फिर मैंने उसी वक़्त अंदर जाकर मेरी बीवी को अपनी बाँहों में लिया चूमा, चाटा और चोदने के लिए बेड पर लेटा दिया और उसके कपड़े उतारे और खुद भी नंगा हो गया, लेकिन अब मेरा लंड खड़ा नहीं हो रहा था, तो तभी मेरी बीवी बोली कि आपका खड़ा ही नहीं हो रहा है, क्या चोदोगे? ऐसे मज़ा नहीं आता। चोदने के लिए लंड तना रहना चाहिए तभी मज़ा आता है।

फिर मैंने कहा कि तुम चाहो तो तने लंड की व्यवस्था हो सकती है, तो तभी वो बोली कि कैसे? तो मैंने कहा कि पड़ोसी लाल जी है और उनका लंड हमेशा तना रहता है। फिर तभी उसने पूछा कि आपको कैसे मालूम पड़ा? तो मैंने कहा कि वो आज बोल रहे थे उनका लंड हमेशा तना रहता है, वो कल आएगे, तुम तैयार रहना। फिर वो बहुत खुश हुई और रातभर मेरे ढीले लंड से खेलती रही, कभी अपने मुँह में लेती, तो कभी खींचती, तो धीरे-धीरे मेरा लंड भी खड़ा हुआ और हमारी जमकर चुदाई शुरू हुई। फिर दूसरे दिन पड़ोसी लाल जी जैसे ही उनके बेटे बहू काम पर गये, तो वो हमारे यहाँ आ गये। फिर मेरी बीवी उनके लिए चाय लेकर आई।

फिर प्लेयिंग कार्ड चले, तो उसमें एक बार प्लेयिंग कार्ड में बीवी हार गई, तो मैंने पेनल्टी में लाल जी के सामने ही उसको अपनी बाँहों में भर लिया और उसको किस किया। फिर एक बार लाल जी उससे जीत गये, तो मैंने कहा कि लाल जी आप भी पेनल्टी वसूल करिए, चूकिए मत। फिर तभी लाल जी ने मेरी बीवी को अपनी बाँहों में भरा और जमकर किस किया। तो मेरी बीवी ने भी अपनी बाहें लाल जी के गले में डाल दी और उनसे चिपक गई। फिर लाल जी ने उसके बूब्स को अपनी मुट्ठी में भर लिया और ऊपर से ही मसलने लगे। फिर मेरी बीवी भी अपना एक हाथ उनके पजामे पर ले गई और उनका लंड ऊपर से ही सहलाने लगी, तो ये देखकर मेरे शरीर में सनसनी फैल गई। फिर लाल जी ने मेरी बीवी को अलग किया और उसकी साड़ी खींचकर अलग कर दी और ब्लाउज के बटन खोल दिए, उसने अंदर ब्रा नहीं पहनी थी। अब उसके कबूतर आज़ाद होकर झूल रहे थे। फिर लाल जी ने उसके पेटीकोट का नाडा खींचा और वो भी जमीन पर गिर गया। अब मेरी बीवी पूरी नंगी थी और उसका मांसल बदन देखकर लाल जी की आँखे फटी की फटी रह गई थी, उनकी बीवी की मौत के बाद पहली बार उन्होंने किसी औरत को नंगा देखा था।

फिर उसने भी लाल जी का कुर्ता ऊपर खींचा, तो लाल जी ने अपना कुर्ता अपनी बाँहों से निकाल दिया, उन्होंने भी बनियान नहीं पहना था। अब उनको चौड़ा सीना देखकर मेरी बीवी की चीख निकल गई थी। फिर उसने उनके पजामे का नाडा खींचा, तो वो नीचे आ गिरा। अब लाल जी केवल चड्डी में थे, जिसमें उनका लंड बाहर निकलने को मचल रहा था। फिर मेरी बीवी ने उनकी इलास्टिक में अपना एक हाथ डालकर उसे भी खींचकर नीचे गिरा दिया। फिर उनका फनफनाता लंड बाहर आ गया, क्या लंड था? पूरा 9 इंच लम्बा और मोटा करीब 3 इंच का था, उनका लंड पूरा एक बड़े केले की साईज़ जैसे था। फिर मेरी बीवी ने अपना पूरा पंजा खोलकर उनके लंड पर रख दिया। अब उनका लंड एकदम उसमें फिट बैठ रहा था। दोस्तों ये कहानी आप चोदन डॉट कॉम पर पड़ रहे है।

फिर तभी मेरी बीवी एकदम से किलकारी भरकर बोली कि हाए राम आपका कितना बड़ा है? और फिर मुझसे बोली कि देखो जी आपके लंड से एकदम डबल है। तभी लाल जी बोले कि कैसा है भाई तुम्हारा लंड? हमें भी तो दिखाओ, आप भी अपने कपड़े खोल दो, हम साथ ही स्वाद लेंगे। फिर तभी मैंने भी अपने कपड़े उतारे और एकदम नंगा हो गया। अब मेरे छोटे नवाब भी सर उठारकर खड़े थे, अपनी पूरी आधे हाथ की लंबाई में और फिर हम दोनों ने मेरी बीवी को गोद में लिया और बेडरूम में ले जाकर बिस्तर पर लेटा दिया। अब लाल जी उसके बूब्स से खेलने लगे थे, तो तभी में उसके गाल पर हल्का- हल्का काटने लगा। अब लाल जी उसके बूब्स की निपल अपने मुँह में लेकर उसको अपने दाँत से काटने लगे थे। फिर तभी उसके मुँह से सिसकारी निकली ओह मेरे राजा, मेरे दोनों बूब्स मज़े लेकर चूसो। अब लाल जी मेरी बीवी के एक बूब्स को अपने मुँह में भरकर चूसने लगे थे और में उसके दूसरे बूब्स को अपने हाथ में लेकर मसलने लगा था।

अब लाल जी का शेर एकदम आसमान में मुँह उठाए झटके खा रहा था। फिर लाल जी अपना मुँह मेरी बीवी की नाभि पर ले गये और अपनी जीभ से गुदगुदी करने लगे और फिर नीचे जाकर उसकी चूत में अपना मुँह डालकर उसको चाटने लगे थे। अब मेरी बीवी बोल रही थी कि ओह मेरे राजा और ज़ोर से चूसो, ओह लाल जी प्लीज और मज़े देकर चूसो। फिर तभी कुछ ही देर में उसकी चूत ने पानी छोड़ दिया, तो तभी लाल जी उठे और मेरी बीवी की दोनों टांगो के बीच में आ गये और उसकी चूत के मुँह पर अपने लंड का सुपड़ा रखकर रगड़ने लगे। अब मेरी बीवी बिल्कुल मदहोश हुए जा रही थी और बोली कि लाल जी अब और बर्दाश्त नहीं हो रहा है, प्लीज अपना लंड अंदर डालो ना। फिर तभी लाल जी ने एक हल्का सा धक्का दिया तो उनका सुपाड़ा अंदर चला गया और फिर ज़ोर से एक झटका मारा तो उनका लंड 6 इंच तक अंदर जाकर उसकी चूत में फंस गया।

फिर तभी मेरी बीवी के मुँह से हल्की सी कराह निकली और उसने अपने दाँत पर दाँत जकड़ लिए ताकि उसकी चीख ना निकल सके। फिर लाल जी ने एक ज़ोर से धक्का लगाया, अब उनका पूरा का पूरा लंड अंदर था, सिर्फ़ बॉल्स बाहर थी, तो मेरी बीवी के मुँह से आह निकली, तो तभी लाल जी ने अपनी साँस रोककर अपना लंड बाहर खींचा और फिर ज़ोर से धकेल दिया और फिर इसी तरह हल्के-हल्के से अपने लंड को अंदर बाहर करने लग गये। अब मेरी बीवी को बहुत मज़ा आ रहा था तो वो बोली कि ओह लाले इसी तरह चोदे जाओ, पूरा मज़ा दो, पहली बार इतना बड़ा लंड मिला है, किए जाओ मेरे राजा आआहह, ओह फाड़ दो मेरी चूत को, कोई कसर ना रहे। अब वो 15-20 धक्को में ही बोल गई थी और उसके मुँह से निकला ओह लाले में तो गई, ओह, आह, ओह, आह और ज़ोर से, हाँ आहहा में झड़ रही हूँ, आहह करते हुए उसने अपनी चूत के रस से लाल जी के लंड को पूरी तरह से अपनी चूत से नहला दिया।

अब लाल जी पूरे जोश में आ गये थे और उनकी कमर किसी इंजन के पिस्टन की तरह आगे पीछे हो रही थी। अब लाले जी स्पीड से दनादन धक्के लगाए जा रहे थे। फिर तभी एकाएक मेरी बीवी के मुँह से फिर से आवाज निकलने लगी ऑश, ओह लाले तूने पूरा मज़ा दे दिया, अब चूत फाड़ेगा क्या? ओह, आहह, में तो फिर गई करके एक बार फिर से उसकी चूत ने लाले के लंड को फिर से अपनी चूत के रस से नहला दिया। फिर लाल जी ने मेरी बीवी को नीचे उतारकर पलंग से उल्टा हाथ टिकाकर घोड़ी बना दिया और अपने गधे जैसा लंड पीछे से उसकी चूत में डाल दिया और ज़ोर-ज़ोर से धक्के लगाने लगे। अब मेरी बीवी ज़ोर-ज़ोर से सिसक रही थी आहह, आआह, आज तो मजा आ गया, तुम कहाँ हो? देखो तो सही लाल जी कैसे दनादन किए जा रहे है, आज तो मज़ा आअआ गया, हाँ इसी तरह से किए जाओ।

फिर एक बार फिर से उसकी चूत ने झटका खाया और फिर से अपनी चूत रस से लाल जी के लंड को सारोबर कर दिया। फिर लालजी ने फिर से अपना आसन बदला और बेड पर उसको डॉगी पोजिशन में लाकर उसकी चूत में अपना लंड पेलने लगे। अब मेरे लंड में भी सनसनी हो रही थी, अब में मेरी बीवी के मुँह की तरफ जाकर लेट गया था। तो उसने मेरे लंड को अपने मुँह में भरकर आइसक्रीम की तरह चूसना शुरू कर दिया। अब उधर लाल जी के धक्के से पूरा पलंग हिल रहा था और वो ज़ोर-ज़ोर से चुदाई किए जा रहे थे, जिसकी वजह से मेरा बीवी का मुँह भी हिल रहा था और मेरे लंड को पूरा मज़ा मिल रहा था। फिर तभी एकाएक लाल जी के धक्के ज़ोर से बढ़ गये और उनके चेहरे पर पूरा खून जमा होकर वो एकदम लाल हो गये थे। अब में समझ गया था कि वो अब अपनी चरम सीमा पर है। फिर एकाएक उन्होंने अपने लंड से पूरा शहद मेरी बीवी की चूत में छोड़ दिया। तब मेरी बीवी की आँखें बंद हो गई थी और उसकी चूत पूरी झील बन गई थी। फिर मेरे सुपाड़े में जैसे ही वीर्य आया तो में भी झड़ गया। अब सारा शहद उसकी चूत में से निकलकर गद्दे पर गिर रहा था। फिर उस रोज दिनभर यह सिलसिला चलता रहा। अब में उनकी चुदाई देखकर मस्त हो गया था। फिर हमारा ये सिलसिला करीब 2 साल तक चलता रहा, अब उनके बेटे का ट्रान्सफर होने की वजह से वो साउथ इंडिया में चले गये है और उनके जाने से में बहुत दुखी हो गया हूँ ।।

सविता भाभी वीडियो चाट न्यूज़ Apps Install करके तुरंत Bhabhi से बात करिये Download


One Response - Add Comment

Reply